हुनर हाट आवेदन फॉर्म PDF | Hunar Haat Online Registration Form

0

Hunar Haat Application Form PDF Download Hindi / English -: आज तो देश के अनेक शहरों में हुनर हाट आयोजना होने शुरू हो गये हैं। जो प्रतिभाशाली, हस्तशिल्पी हुनरमंद लोगों के लिए शुरू किया गया है। Hunar Haat Yojana 2020 का उद्घाटन यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ जी द्वारा 11 जनवरी 2020 को लखनऊ (यूपी हुनर ​​हाट) में किया गया था। हुनर हाट में शिल्पकार, कारीगर, उद्यमियों द्वारा अपने हुनर का प्रदर्शन दिखाया जाता है। जिसमें वे अपने हाथों से तैयार (निर्मित) की गयी वस्तु, उत्पादनों का बाजार लगाते हैं। जिससे उनकी कला प्रदर्शनी, संस्कृति बची रहे। और लोग उनके उत्पादों को भी खरीद सके जिससे उनका आय का साधन बना रहे। राज्य की सरकारें हुनर हाट का आयोजना लगभग 10 दिन के लिए करती है।
Hunar Haat 2020 से जुडी अन्य सभी जानकारियों हुनर हाट योजना पीडीएफ फॉर्म हिंदी में तथा इंग्लिश में प्राप्त करने के लिए हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़ें। जहाँ हम आपको हुनर हाट योजना रजिस्ट्रेशन आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

Hunar Haat Yojana 2020 – हुनर हाट योजना का आयोजना देश के बड़े बड़े शहरों में शुरू किय जा रहें हैं। जिसमें देश के अलग – अलग क्षेत्रों, गांवों से लोग अपनी हस्तकला का प्रदर्शन करते हैं। जिसके लिए कारीगरों को अपना आवेदन (Hunar Haat Registration) करना पड़ता है। हम आपको यहाँ पर देश के अलग – अलग शहरों जैसे – दिल्ली, इंदौर, चंडीगढ़, अमृतसर, देहरादून, हैदराबाद, गुरुग्राम, शिमला, लखनऊ, मुंबई, बेंगलुरु, गोआ जैसे अन्य प्रमुख शहर हैं। जहाँ पर हुनर हाट लगाने के लिए पहले आवेदन / पंजीकरण फॉर्म भरना होता है।

Hunar Haat Form PDF Download Hindi English
Hunar Haat Form PDF Download Hindi English

Hunar Haat Online Registration Form PDF Download In Hindi

लेख हुनर हाट योजना 2020
 भाषा   हिंदी
लाभार्थी  कारीगर और शिल्पकार
उद्देश्य प्राचीन कला को जीवित रखना
Hunar Haat Official Website  manassd.ind.in
Hunar Haat Yojana Form PDF  Click Here

Benefits of Hunar Haat 2020 (हुनर हाट योजना के लाभ) :

हुनर हाट योजना के अनेक प्रकार के लाभ हैं। जिनमे से हम आपको कुछ लाभ निम्न प्रकार के बिंदुओं के माध्यम से प्रदान करेंगे।

  • हुनर हाट के आयोजन से बहुत लोगों को रोजगार प्रदान होता है। जिससे लोगों का आय का साधन बन जाता है।
  • कारीगरों को अपनी कला तथा हुनर दिखने का अवसर प्राप्त होता है।
  • हुनर हाट में पारम्परिक तथा नवीन हस्तकला, शिल्पकला का प्रदर्शन किया जाता है।
  • इस योजना का आयोजन करने से कारीगरों और शिपकारों के उत्पादनों की बाजार में मांग बड़ जाती है। साथ ही उनकी एक नई पहचान मिलने का अवसर प्राप्त होता है।
हुनर हाट पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents required for Hunar Haat Apply)

Hunar Haat 2020 Application Form भरने हेतु आवेदक को कुछ आवश्यक दस्तावेज की जरूरत होती है। जिनकी सूचि हम आपको निम्न प्रकार से प्रदान कर रहे हैं।

  • आधार कार्ड।
  • वोटर आईडी कार्ड।
  • बैंक पासबुक।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।
  • कॉन्टेक्ट नंबर।
  • अन्य आवेदक संबंधी मुख्य जानकारी।
Hunar Haat Apply Online ( हुनर हाट आवेदन प्रक्रिया)

हुनर हाट के आयोजन में प्रदर्शन के लिए आवेदन पंजीकरण करना आवश्यक है। हुनर हाट पंजीयन राज्य सरकार द्वारा किया जायेगा। जिसके लिए प्रदर्शनीयों को ऑफलाइन माध्यम से ही आवेदन करना होगा। क्योंकि हुनर हाट के लिए अभी किसी भी प्रकार की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं की गयी है। यदि हुनर हाट के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन /पंजीयन/ आवेदन प्रक्रिया शुरू होती है। तो हम आपको इस लेख के माध्यम से बता देंगे। फिलहाल आपको दिये गये, फॉर्म को डाउनलोड (hunar haat form pdf) कर के सभी प्रकार के आवश्यक दस्तावेजों तथा फॉर्म में पूछी गयी सभी प्रकार की आवश्यक जानकारियों को भर कर जमा।

Hunar Haat Helpline Number – Ph 011- 2358647

New Update By Source PIB – केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा अभी तक देश के विभिन्न भागों में दो दर्जन से अधिक “हुनर हाट” का आयोजन किया जा चुका है, जिसमें लाखों दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों को रोजगारके अवसर मिले हैं। आने वाले दिनों में “Hunar Haat” का आयोजन जयपुर (23 Octसे 1 Nov), चंडीगढ़ (7 से 15 Nov), इंदौर (21 से 29 Nov), मुंबई (22 से 31 Dec 2020), हैदराबाद (8 से 17 Jan 2021), लखनऊ (23 से 31 Jan 2021), दिल्ली (इंडिया गेट- 13 से 21 Feb 2021), रांची (20 से 28 Feb 2021), कोटा (5 Mar से 14 Mar 2021), सूरत/अहमदाबाद (20 से 27 Mar 2021) में होगा।

Hunar Haat time 2020 –

भारत सरकार के केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा “हुनर हाट” 9 अक्टूबर 2020 से के पुनः आयोजित किया गया है। जिसकी थीम “लोकल से ग्लोबल” रखी गयी है। जिसमें स्वदेशी वस्तुओं पर जोर दिया जायेगा। जिसके लिए भारत सरकार द्वारा 30 प्रतिशत हुनर हाट स्वदेशी कारीगरों के स्टाल आरक्षित किये गये हैं। जिससे लकड़ी, ब्रास, बांस, शीशे, कपडे, कागज़, मिटटी के खिलौनों को “हुनर हाट” का एक बड़ा प्लेटफार्म मिलेगा। Hunar Haat का आयोजन करने से पिछले पांच वर्षों में 5 लाख से ज्यादा भारतीय दस्तकारों, शिल्पकारों को रोजगार के अवसर प्राप्त हुआ है। तथा “हुनर हाट” के कारण हस्तनिर्मित स्वदेशी सामान की लोगों में लोकप्रिय काफी ज्यादा बड़ी है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.