बजट 2021-22 PDF | Union Budget 2020-21 PDF in Hindi Download

0

Budget 2021-22 PDF | Union Budget 2021-22 PDF | Budget 2021 PDF UPSC | Budget 2021-22 Summary PDF | बजट 2020-21 हिन्दी में PDF | भारतीय बजट 2020 -21 | बजट 2021-22 हिन्दी में PDF | केंद्रीय बजट 2021-22 PDF Download | केंद्रीय बजट 2021-22 PDF | भारतीय बजट 2021 -22 पीडीऍफ़ |

आम बजट 2021-22 पीडीएफ डाउनलोड करने के तथा भारतीय केंद्रीय बजट की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे लेख के साथ बने रहें। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा सोमबार 1 फरवरी 2021 को संसद पटल पर रखा जायेगा। आगामी केंद्रीय बजट 2021-22 बहुत खास होने वाला है। इसका मुख्य कारण कोरोना संक्रमण तथा कृषि क्षेत्र में सुधार करने पर सरकार का खास ध्यान रहेंगे। ताकि हर गाँव, गरीब का विकास हो सके। और तेजी से बढ़ रही महँगाई को रोका जा सके। जीडीपी ग्रोथ कम होने के कारण अर्थव्यवस्था पर खासा बुरा प्रभाग पड़ा है। जिसके कारण इंफ्रास्ट्रक्चर और एनर्जी सेक्टर के एक्सपर्ट के मुताबित सरकार इस वर्ष टैक्स ज्यादा नहीं बढ़ा रही है। साल 2021-22 बजट इंफ्रास्ट्रक्चर पर ज्यादा फोकस रखने का बजट माना जा रखा है। जिससे देश आर्थिक आधार पर आत्मनिर्भरता की ओर तेजी से बढ़ सके।

Budget 2021-22 PDF in Hindi Download 

लेख का नाम केंद्रीय बजट 2021 PDF
पेश किया निर्मला सीतारमण जी
भाषा Hindi, English
वित्तीय सत्र 2021-2022
Economic Survey 2020-21
संसद में पेश किया 1 फरवरी, 2021 को
लागू होगा अप्रैल 2021
विशेषता साल भर का कुल खर्चा
आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 Click Here
जन जन का बजट 2021 PDF Download 
आम बजट भाषण  यहाँ क्लिक करें
Budget Circular 2021 2022  PDF Download
पिछले केंद्रीय बजट Click Here

बजट सत्र 2021 कैसे देखें –

साल 202-22 का बजट सत्र की जानकारी तो हम आपको प्रति दिन इस लेख के माध्यम से अपडेट करते रहेंगे। लेकिन सीधा प्रसारण देखने के लिए लोकसभा टीवी, दूरदर्शन, राज्य सभा टीवी द्रीय, न्यूज चैनल, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लाइव आदि के माध्यम से देख सकते हैं। दोनों सदन में पांच घंटे की चर्चा होगी। जो राज्यसभा में सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक जबकि लोकसभा 3 PM से 8 PM तक चलेगा। बजट पेश होने से दो दिन पहले, राष्ट्रपति जी द्वारा अभिभाषण के साथ शुरू किया गया है। जिसके बाद केंद्रीय मत्रालयों के मंत्रियों और वित्त मंत्री जी द्वारा आर्थिक सर्वेक्षण और वित्तीय विकास के बारे में चर्चा की जायेगी। जिसके दो भागों में रखा गया है। 29 जनवरी से 15 फरवरी और 8 मार्च से 8 अप्रैल 2021 तक।

Part of Budget (बजट के भाग) 

कोरोना संक्रमण के कारण जहाँ एक लोगों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ा। वहीं दूसरी और सरकार को भी बहुत बुरी आर्थिक हालातों से गुजरना पड़ा। देश की विकास दर बहुत धीमी पड़ गयी है। ऐसे में वित्त मंत्री के समक्ष भी चुनौतियां बढ़ गई हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि, वर्ष 2021 का बजट चुनिंदा लोगों के लिए ही नहीं, बल्कि समाज के हर वर्ग के लिए यह बजट होगा। जिसमें देश के गरीब, किसान, समाज का निम्न वर्ग, मध्यम वर्ग और उद्यमी वर्ग शामिल होगा। इस बजट में सबसे ज्यादा ध्यान शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, कर सेवा, निर्यात में बढ़ावा, आत्मनिर्भर, कृषि, उद्योग जगत को बढ़ावा, GST को मजबूत करना जिससे अर्थव्यवस्था को पटरी पर लौटा जा सके।

विरासत पर्यटन कृषि सरकार का सुधार
 वित्तीय क्षेत्र के सुधार  कर लगाना  स्वछता भारत
 पर्यावरण  नई अर्थव्यवस्था  स्वास्थ्य और कल्याण
 मध्यम वर्ग  MSMEs शिक्षा
आधारिक संरचना  सभी के लिए आवास  जल जीवन
 समाज के लिए देखभाल व्यापार बजट  कृषि/किसान बजट
उद्योग बजट  रोजगार बजट  शिक्षा बजट

 बजट तैयार किया –

वर्ष 2021-22 की रूप रेखा केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर जी, वित्त सचिव डॉ एबी पांडे, आर्थिक सलाहकार के वी. सुब्रमण्यम और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर, एनर्जी और क्लाइमेट एक्सपर्ट तथा वरिष्ठ अधिकारी के विचार-विमर्श से बनाया गया है। इस से पहले हर वर्ष देश की आम जनता से भी बजट के बारे में खास सर्वे किया जाता था। कि आम जनता नये वित्त वर्ष में किन मुद्दों पर विशेष ध्यान देती है।

Economic Survey 2020-21 budget –

वर्ष 2020-21 के आर्थिक सर्वे बजट बनाया जाता है। जिसमें देश की जीडीपी की ग्रोथ और आम आदमी की प्रति व्यक्ति आय पर खास ध्यान रखा जाता है। निर्मला सीतारमण जी मोदी सरकार 2 का तीसरा बजट पेश करने जा रहीं हैं। जिसमें इस साल आर्थिक सर्वे के आंकड़े बजट के मुताबित बहुत ही खराब है। महामारी के कारण देश की इकॉनमी रेट बहुत नीचे गिर गया।

2021 बजट में क्या महँगा होगा –

भारत सरकार आयत वाली वस्तुओं पर टैक्स बड़ा रही है जिसके कारण आयात होने वाली वस्तु महँगी हो जाएगी। साथ ही पर्यावरण को प्रदूषित करने वाली वस्तुएं भी महंगी होंगी। ताकि लोग इन चीजों का इस्तमाल कम करें। और पर्यावरण संरक्षण हो सके। महँगी होने वाली वस्तुओं की सूचि (List) में स्मार्टफोन, चाइनीज खिलौने, इलेक्ट्रॉनिक आइटम, रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, बढ़ोतरी 5-10% तक हो सकती है।

2021 के बजट में क्या सामान होगा सस्ता –

भारत सरकार प्रोडक्ट्स के दाम कम करने के लिए कस्टम ड्यूटी और सीमा शुल्क में कटौती की कर सकती है। जिसके कारण उत्पादन की गयी वस्तु के दाम कम हो सकते हैं। सस्ते होने वाले समानों लिस्ट में फर्नीचर का कच्चा माल, रबड़, तांबा भंगार, पॉलिश किए गए हीरे, चमड़े के कपड़े और कालीन, कैमिकल, दूरसंचार के उपकरण कस्टम ड्यूटी में कटौती होने के कारण सस्ती हो सकती हैं।

डाउनलोड बजट ऐप –

सरकार द्वारा इस वर्ष बजट को डिजिटल रखने का प्रोग्राम रखा गया। है। जिसके लिए आपको Union Budget App Download करना होगा। इस मोबाइल ऐप के जरिए मिलेगी बजट की सभी जानकारियां से आपके मोबाइल पर ही प्राप्त हो जायेंगी। केंद्रीय बजट ऐप आप गूगल प्ले स्टोर और आईओएस से डाउनलोड कर सकते हैं। या आप यहाँ क्लिक करें

Leave A Reply

Your email address will not be published.